रोहतास के लाल ‘रजनीकांत मिश्रा’ बने BSF के नए प्रमुख

0
2096

रोहतास जिले के बिक्रमगंज प्रखंड के मोरौना गांव के रजनीकांत मिश्रा सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के 24वें डीजी बने। गांव वालों के मुताबिक इस बड़ी खुशी के सामने जमाने भर की खुशियां छोटी पड़ गई हैं। 1984 बैच के उत्तर प्रदेश कैडर के आईपीएस अधिकारी रजनीकांत मिश्रा फिलहाल सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी)में डीजी के पद पर तैनात थे। वे ठीक एक साल पहले एसएसबी के डीजी बनाए गए थे।

गौरतलब हो कि बीएसएफ के वर्तमान डायरेक्टर जनरल केके शर्मा 30 सितंबर को सेवानिवृत्त हुए। उनके स्थान पर रजनीकांत मिश्रा ने पदभार ग्रहण कर 24वें बीएसएफ प्रमुख बने। इस पद पर वह 31 अगस्त, 2019 तक रहेंगे। रजनीकांत मिश्रा को बीएसएफ नए प्रमुख बनाएं जाने से एसएसबी के डायरेक्टर जनरल का पद रिक्त हो गया है। एसएसबी के डायरेक्टर जनरल पद पर हरियाणा कैडर के 1984 बैच के आईपीएस एसएस देसवाल को सशस्त्र सीमा बल का डायरेक्टर जनरल नियुक्त किया गया है। बता दें कि रजनीकांत मिश्रा 2012 में महानिरीक्षक के रूप में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) में शामिल हुए थे। नवंबर 2014 में उन्हें बीएसएफ के अतिरिक्त महानिदेशक के रूप में नियुक्त किया गया था।

मालूम हो कि नौकरी के क्रम में हमेशा बाहर रहने वाले रजनीकांत मिश्रा का लगाव शुरू से ही गांव से रहा है। वे अक्सर गांव में होने वाले विभिन्न आयोजनों व त्योहारों में शामिल होने यहां आते रहे हैं। रजनीकांत के पिता प्रो.रामचंद्र मिश्रा पटना विश्वविद्यालय में हिंदी संकाय के विभागाध्यक्ष थे। वे चार भाई और एक बहन हैं। अपने भाईयों में वे तीसरे स्थान पर हैं।

आईपीएस रजनीकांत मिश्रा की शिक्षा-दीक्षा पटना में हुई है। इनके बड़े भाई शशिकांत मिश्रा कांग्रेस के टिकट पर 1984 के दशक में गोपलगंज से चुनाव लड़ चुके हैं। जबकि दूसरे भाई डॉ. रविकांत मिश्रा टाटा मेन हॉस्पिटल जमशेदपुर में डॉक्टर हैं, वहीं छोटे भाई मणिकांत मिश्रा पटना हाई कोर्ट में अधिवक्ता है। ग्रामीणों के अनुसार रजनीकांत मिश्र की सफलता ने आने वाली पीढि़यों के लिए प्रेरणा की नई मीनार स्थापित की है। बीएसएफ प्रमुख होने की खबर मिलते ही उनके ननिहाल सासाराम सदर प्रखंड के मोकर में भी खुशी का माहौल है।

मालूम हो कि करीब दो लाख कर्मियों वाला बीएसएफ पाकिस्तान और बांग्लादेश से लगती सीमा की निगरानी करता है। एसएसबी में करीब 90,000 कर्मी हैं। यह बल नेपाल के साथ ही बांग्लादेश सीमा पर तैनात है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here