रोहतास के जांबाज शहीद कमांडो की बहन को साथी कमांडो ने अपनी हथेलियों पर किया विदा

0
622

जम्मू-कश्मीर में दो साल पहले आतंकियों से मुठभेड़ में वतन पर कुर्बान हो गए रोहतास के जांबाज गरुड़ कमांडो ज्योति प्रकाश निराला की बहन की शादी हुई तो आंखें खुशी से छलक उठी, जब निराला की यूनिट के साथी उस बहन को भाई की कमी महसूस नहीं होने दी.

उनकी बहन की शादी में भाई को रश्म निभाने के लिए देश के विभिन्न राज्यों से आये 25 साथी कमांडो ने बहन को आंगन से स्टेज तक ले जाने के लिए अपनी हथेली बिछा दी. इस पर पैर रख शहीद गरुड़ कमांडो ज्योति प्रकाश निराला की बहन शशिकला अपने पति के पास स्टेज तक पहुंची. इस दृश्य को देख हर किसी की आंख छलक आई थी. शादी इसी महीने की तीन जून को संपन्न हुई. दुल्हन शशिकला संगीत में बीएड कर रहीं है, तो दूल्हा सुजीत कुमार रेलवे में लोको पायलट हैं, मूल रूप से डेहरी ऑन सोन के निवासी हैं, बरात शहीद कमांडो के गांव काराकाट थाना के बदिलाडीह आयी थी.

शादी में शामिल होते गरुड़ कमांडो के जवान

इसमे शामिल होने 30 मई को तिलक के दिन ही सभी कमांडो साथी गाँव पहुँच गये और शशिकला को ससुराल बिदा कर अपने-अपने घर वापस लौट गये. वहीं शादी धूमधाम से हो इसके लिए गरूड़ यूनिट के हरेक कमांडों ने 500 रू जमा किये. कुल मिलाकर 5 लाख रूपये जमा हुए. जिसका चेक साथियों ने ज्योति प्रकाश के पिता को सौंपा. शादी में कोई दिक्कत न हो इसका भी साथियों ने खूब ख्याल रखा. धूमधाम से शादी हुई, और जब विदाई हुई तो बहन ने जवानों के हाथों पर चलकर बाहर आयीं.

विदित हो कि रोहतास जिले के काराकाट प्रखंड के बदिलाडीह के निराला एयरफोर्स में गरुड़ कमांडो थे. आतंकियों को मार गिराते हुए शहीद हो गए थे. 26 जनवरी 2018 को राष्ट्रपति ने ज्योति प्रकाश निराला के अदम्य साहस के प्रदर्शन और वीरता के लिए मरणोपरांत अशोक चक्र से सम्मानित किए थे. पिछले साल मरणोपरांत अशोक चक्र से सम्मानित किया गया था.

उनकी बहन की शादी पर ही देश की शान माने जाने वाली एयरफोर्स के आइएएफ गरुड़ कमांडो की टीम यहां पहुंची थी. बहन जब उनकी हथेलियों पर चढ़कर विदा हो रही थी तो वर और कन्या पक्ष गर्व भरी निगाहों से देख रहा था.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here