चैती छठ के दिन औरंगाबाद में वोटिंग, देव के चैती छठ में जुटते है लाखों श्रद्धालु, मतदान पर पड़ेगा असर

0
1358

औरंगाबाद में छठ पूजा के दौरान ही लोकसभा चुनाव संपन्न होंगे. 11 अप्रैल को औरंगाबाद लोकसभा क्षेत्र का चुनाव होना है और इसी दिन चैत्र छठ का संध्या अर्घ्य दिया जाएगा. इस मामले पर औरंगाबाद डीएम राहुल रंजन माहिवाल ने कहा कि वरीय स्तर पर इसकी जानकारी दे दी गई है.

ज्ञात हो कि बिहार के लिए महत्वपूर्ण चैत्र छठ पूजा मगध प्रमंडल में धूमधाम से मनाई जाती है और इसका केंद्र बिंदु औरंगाबाद जिले का देव है. देव में आठवीं सदी का सूर्य मंदिर स्थापित है और इससे करोड़ों लोगों की आस्था जुड़ी हुई है. यदि इस दिन मतदान होता है तो निश्चित रूप से मतदान का प्रतिशत प्रभावित होगा. मिली जानकारी के अनुसार देव में लगभग 10 लाख लोग चैत्र छठ में अर्घ्य देते हैं.

फाइल फोटो: चैती छठ में देव का नजारा

भारी भीड़ होने की वजह से यहां कड़ी सुरक्षा व्यवस्था होती है, लेकिन इसी दिन मतदान की तिथि होने से व्यवस्था बुरी तरह प्रभावित होगी. जिले भर में छठ मनाया जाता है और ऐसे में मतदान प्रक्रिया को संपन्न कराना बड़ी चुनौती होगी. तिथि घोषित होने के बाद स्थानीय लोगों ने इसमें बदलाव की मांग शुरू कर दी है. लोगों का कहना है कि छठ पूजा में लाखों श्रद्धालु अर्घ्य देते हैं और इस दिन मतदान होने से परेशानी होगी. फिलहाल तय तिथि के अनुसार तैयारी जारी है.

फाइल फोटो: चैत्र छठ के दौरान देव की गलियां

मालूम हो कि चैती छठ व्रत अनुष्ठान 09 अप्रैल को नहाय-खाय के साथ ही शुरू हो जायेगा. 10 को व्रती दिन भर निराहार रहने के बाद शाम को खरना का अनुष्ठान पूरा करेंगे. इसके बाद  36 घंटे का निराहार आरंभ हो जायेगा. 11 को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य अर्पित किया जायेगा. 12 अप्रैल यानि शुक्रवार की सुबह व्रती उगते सूर्य को अर्घ्य देंगे. इसके साथ ही लोकआस्था का महापर्व चैती छठ का समापन हो जायेगा. 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here