पराक्रम पद से सम्मानित होंगें रोहतास के राकेश रमन

0
463

रोहतास के लाल राकेश रमन देश सेवा, ईमानदारी, बहादुरी व निष्ठापूर्ण कार्य के लिए न केवल जिले का बल्कि राज्य का भी नाम पूरे देश में रोशन किए है. अकबरपुर निवासी मिथिलेश दास के पुत्र राकेश रमन को राष्ट्रपति पराक्रम पदक से सम्मानित करेंगे. राकेश रमन इस समय जम्मू कश्मीर में असिस्टेंट कमांडेंट के पद पर तैनात है.

जवान राकेश रमन अपने टीम के साथ.

राकेश 2009 में सीआइएसएफ में सब इंस्पेक्टर के पद पर योगदान किए थे. यूपीएससी सीपीएफ 2010 की परीक्षा पास कर सीआरपीएफ में असिस्टेंट कमांडेंट बने. पहली पोस्टिंग जम्मू कश्मीर में हुई. बचपन से ही सेना में जाकर देश की सेवा करने की इच्छा राकेश के मन में थी. सीआरपीएफ के प्रशिक्षण के दौरान राकेश को सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षु तथा शिल्प और रणनीतिकार का भी पुरस्कार मिला. बहादुरी व निष्ठा पूर्ण कार्य को देखते हुए सीआरपीएफ के महानिदेशक ने उसे पराक्रम पदक देने की घोषणा की है. यह पदक आगामी अप्रैल माह में राष्ट्रपति द्वारा दिया जाएगा. आपको बता दें कि राकेश रमन एक मध्यवर्गीय परिवार से हैं, जिनके पिताजी मिथलेश दास ट्यूशन पढ़ाकर परिवार का भरण-पोषण करते थे. चार भाई-बहनों में से सबसे बड़े राकेश बचपन से ही कुशाग्र बुद्धि के थे. उनकी प्रारंभिक शिक्षा रोहतास हाईस्कूल से हुई. उसके बाद वे डाल्टेनगंज डीएवी स्कूल में स्पोर्ट टीचर के रूप में बच्चों को शिक्षा दिया कुछ दिनों तक ऑल इंडिया रेडियो डाल्टेनगंज में भी एनाउंसर के रूप में कार्य किए. उनकी माता इंदू बाला ने बताया कि यह हमारे लिए बहुत ही गौरवपूर्ण बात है कि बेटा देश की सेवा कर रहा है, और उसे इस कार्य के लिए राष्ट्रपति के द्वारा पुरस्कार दिया जाएगा यह सिर्फ अकबरपुर ही नहीं बल्कि पूरे जिला व राज्य के लिए गौरव की बात है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here