रोहतास की सामाजिक संस्था ‘पहल’ ने पटना में श्रेयसी सिंह को किया सम्मानित

0
1006

कॉमनवेल्थ गेम-2018 में स्वर्ण पदक विजेता बिहार के बेटी श्रेयसी सिंह को सम्मानित करने के लिए सामाजिक संस्था ‘पहल’ के द्वारा सोमवार राजधानी पटना के रविंद्र भवन सभागार में एक भव्य समारोह का आयोजन किया गया। इस समारोह के मुख्य अतिथि बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक थे। समारोह की अध्यक्षता कर रहे ‘पहल’ संस्था के अध्यक्ष अखिलेश कुमार ने श्रेयसी सिंह को बिहार का ब्रांड एम्बेसडर बनाने तथा खिलाड़ी कोटे से डीएसपी रैंक के अफसर बनाने की मांग रखी।

इस मांग का समर्थन करते हुए महामहिम राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि श्रेयसी सिंह के लिए ‘पहल’ संस्था के अध्यक्ष अखिलेश कुमार ने जो मांग आज रखी है वह तो गोल्ड मेडल मिलने के बाद ही पूरा हो जाना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ है आज तक। इसलिए आज ही बिहार सरकार को इस संबंध में पत्र लिखकर निर्देशित करेंगे, साथ ही व्यक्तिगत रुप से भी मुख्यमंत्री से इस संबंध में बात करेंगे। उन्होंने कहा कि, लोग इस भ्रम को निकाल दें कि हम श्रेयसी को सम्मान दे रहे हैं। सच्चाई यह है कि श्रेयसी ने हमें पूरे विश्व में मान-सम्मान दिलाया है।

कार्यक्रम के दौरान महामहिम राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि, निशानेबाजी की वजह से देश का इतिहास बदला है। निशानेबाजी के कारण ही अर्जुन को द्रोपदी मिली, पृथ्वी राज सिंह चौहान ने बदला लिया। हर क्षेत्र में लड़कियों का बेहतर प्रदर्शन को लेकर राज्यपाल ने शुभकामनाएं दीं तो लड़कों को हिदायत दी, भाई साहब सुधर जाओ, अपनी जिम्मेदारी एवं कर्तव्य समझो नहीं तो आने वाले वक्त में समाज आपकी भूमिका को लेकर सवाल करने लगेगा।

उन्होंने कहा कि सरकार अपना काम कर रही है। खेल को लेकर बिहार के हर विश्वविद्यालयों में खेल प्रतियोगिता आयोजित की जाएंगी तथा खेल व शिक्षा के लिए बेहतर सुविधाएं मुहैया कराने की योजना बनाई जा रही है। मौके पर मौजूद सुदर्शन महाराज ने राज्यपाल से आग्रह किया कि शिक्षा तथा खेल के क्षेत्र में बेहतर प्रशिक्षण देने की सुविधाओं के तरफ ध्यान दिया जाए।

समारोह में महामहिम राज्यपाल ने श्रेयसी सिंह को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किए। जबकि श्रेयसी सिंह तथा राज्यपाल महोदय सहित अन्य अतिथियों को ‘पहल’ संस्था के अध्यक्ष अखिलेश कुमार ने प्रतीक चिन्ह, अंगवस्त्र तथा बुके देकर सम्मानित किया।

समारोह में सुपर-30 के संस्थापक आनंद कुमार, वन पर्यावरण विभाग के प्रधान सचिव त्रिपुरारी शरण, राज्यपाल के प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह, सुदर्शन जी महाराज, पूर्व सांसद पुतुल कुमारी सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

इस दौरान श्रेयसी सिंह ने कहा कि बिहार में खिलाड़ियों को यदि उचित माहौल उपलब्ध कराया जाए तो यहां प्रतिभा की कोई कमी नहीं है और सुविधा मिलने के बाद बिहार के युवा पीढ़ी खेल के क्षेत्र में अपनी परचम दुनिया में लहरा सकते हैं। उन्होंने राज्य सरकार से गुजारिश की कि खेल प्रशिक्षण को बेहतर बनाने के साथ खेल से जुड़ी हर चीजों की आधारभूत संरचना तैयार की जाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here