ताराचंडी महोत्सव के तर्ज पर मनाया जाएगा तुतलेश्वरी महोत्सव

0
920

रोहतास जिले के तिलौथू प्रखण्ड के रेड़िया गांव स्थित तुतलेश्वरी धाम की मनोरम वादियों के बीच अब प्रतिवर्ष ताराचंडी महोत्सव की तर्ज पर तुतलेश्वरी महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। रविवार को तिलौथू प्रखंड भर से धाम पर जुटे जनप्रतिनिधियों व सामाजिक कार्यकर्ताओं ने एक बैठक आयोजित कर सर्व सम्मति से ये आयोजन करने का निर्णय लिया। बैठक में उपस्थित सैकड़ो लोगों ने महोत्सव कराने पर अपने-अपने विचार व्यक्त किये। सर्व सम्मति से आगामी 27 मई को तुतलेश्वरी महोत्सव के आयोजन का निर्णय लिया गया।

इस महोत्सव में भोजपुरी और हिन्दी के कलाकार जुटेंगे। तुतलेश्वरी धाम से आधे किलोमीटर की दूरी पर रेडिया और तुतला धाम के नजदीक वन शक्ति देवी मन्दिर के बड़े मैदान को कार्यक्रम स्थल के रूप में चयन किया गया। स्थानीय प्रशासन के अलावे तुतलेश्वरी धाम महोत्सव में कमेटी के सौ से ज्यादा वाेलेटिंयर तैनात रहेंगे। जो वहां की विधि व्यवस्था में पुलिस के साथ सहयोग करेंगे। दर्शकों को बैठाने और गाड़ी पार्किंग से लेकर पूजा-पाठ तक हर कार्योंं में समिति के सदस्य सहयोगी होंगे।

तुतलेश्वरी धाम की छटा

वहीं महोत्सव के दिन एक कंट्रोल रूम बनेगा। जहां से कार्यक्रमों पर नजर रखी जाएगी। धाम तक पहुंचने वालों रास्ता की मरम्मती के लिए स्थानीय स्तर पर श्रमदान से कार्य कराए जाएगें। प्रशासन से भी इस बिंदू पर सहयोग मांगा जाएगा। तुतला धाम विकास समिति के संयोजक विकास चौहान ने बताया कि, “कार्यक्रम के लिए एक आयोजन समिति का गठन किया है जिसमे करीब 50 सदस्यों को चुना गया है। आयोजन समिति की पहली बैठक 3 मई को तिलौथू ठाकुरबाड़ी परिसर में शाम 4 बजे रखी गयी है जिसमे आयोजन के बारे में विस्तृत रूपरेखा तैयार की जायेगी।”

तुतलेश्वरीधाम का मुआयना करते लोग

बैठक में मौजूद लोगों ने बताया कि यह तिलौथू प्रखंड के अब तक का सबसे बड़ा आयोजन होगा। लगभग 5 लाख रुपये इस आयोजन को करने में खर्च होंगे। चूंकि इस वर्ष ये पहला आयोजन होगा इसलिए इसकी भव्यता बढ़ाने में कोई कोर कसर नही छोड़ी जाएगी। लोगों ने कहा कि, इस आयोजन से तुतलेश्वरी धाम में पर्यटकों की संख्या में बढ़ेगी।

महोत्सव समिति के पदाधिकारी पैक्स अध्यक्ष ब्रजेश सिंह ने बताया कि, “इस भव्य कार्यक्रम में एक दर्जन से ज्यादा हिन्दी व भोजपुरी फिल्म कलाकारों के आने की संभावना है। एक सप्ताह के अंदर कलाकारों की सहमति मिलेगी। उसके बाद तुतलेश्वरी धाम महोत्सव की सांस्कृतिक कार्यक्रम रूप रेखा प्रकाशित कर दी जाएगी। धाम पर आयोजित होने वाले इस महोत्सव की शुरुआत धार्मिक अनुष्ठानों से होगी। उसके बाद सांस्कृतिक कार्यक्रम आगाज किए जाएगें। जहां पहुंचने वाले दर्शकों के लिए हर सुविधा का इंतजाम होगा।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here