नन्ही बच्ची को थी ब्लड की जरुरत, फेसबुक से जानकारी मिलते पीएमसीएच पहुंच गया रोहतास का कैसर

0
180

‘आप बांटटे रहिए हमें कभी हिन्दू तो कभी मुसलमान में हम इंसानियत के बंदे है इंसानियत के काम आएंगे…’ इसे साबित किया है रोहतास जिला के रहनेवाले 18 वर्षीय कैसर रजा ने. कैसर रजा पटना में रह कर डॉ. गुरु रहमान कोचिंग में पढाई करता है. बीए पार्ट वन में पढाई कर रहा कैसर डॉ गुरु रहमान के प्रिय छात्र है. जिसने आज हिंदू-मुस्लिम एकता की अनूठी मिसाल पेश की है. दरअसल आज एकाएक हाजीपुर की तीन साल की नन्ही अनुष्का शर्मा को O नेगेटिव ब्लड की जरूरत थी. O-Negative ब्ल्ड काफी कम मिलने वाला ब्लड है, जिससे अनुष्का के परिवार के सभी लोग काफी परेशान थे. लेकिन जैसे ही मुकेश हिसारिया के फेसबुक से इसकी सूचना कैसर रजा को मिली, वह तुरंत पीएमसीएच पहुँच गया और अपना खून देकर मासूम अनुष्का की जान बचाई.

कैसर रजा अपने गुरु ‘डॉ. गुरु रहमान के साथ’

पहली बार रक्तदान करने के तुरंत बाद डॉ गुरु रहमान के शिष्य कैसर रजा ने कहा कि- “ना हम धर्म देखते है.. न हम जात देखते है.. हम तो रक्तदानी है.. हम इंसानियत के नाते जरूरतमंद की जान देखते है..”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here